हिन्दी साहित्य को सम्मानित करने की कोशिश में एक छोटा सा प्रयास, हिन्दी की श्रेठ कविताओं, ग़ज़लों, कहानियों एवं अन्य लेखों को एक स्थान पर संकलित करने की छोटी सी कोशिश...

Premchand - Kafan | प्रेमचंद - कफ़न | Story

प्रेमचंद जी की यह कहानी आज भी हमारे देश के भुलाये गए गरीब तबके के उन तमाम लोगो की स्तिथि बयान करती है जो समाज की ढकोसली परम्पराओ का वहन करने के कारण गरीबी में जिये जा रहे है। यह कहानी हमारे समाज की उन सारे रूढ़िवादी परम्पराओ पर एक कटाक्ष करती है और दिखाती है कि एक गरीब के लिये उसका भूखा पेट ही उसका सब कुछ है। गरीबी ने उनकी सारी इच्छाएँ उनकी पेट पर ही केंद्रित कर दी है इसलिए जब वह कफ़न के लिए मिले पैसो की मदिरा पीते है तो उसको भी सही बताते है और अंत में एक भिखारी को भोजन करा के मरी हुयी बहु का श्राध भी कर देते है। गुलज़ार जी ने कुछ वर्ष पहले दूरदर्शन पर प्रेमचंद जी की कहानियो को लेकर एक धारावाहिक प्रसारित किया था जिसका नाम था "तहरीर", उसमे यह कहानी भी दिखाई गयी थी जिसको आप नीचे देख सकते है।  इस कहानी पर वर्ष २००५ में एक हिंदी फिल्म भी बनायीं गयी थी Forgotten Showers ( भूली हुयी बारिश) जिसके निर्देशक विनोद कुमार थे और जिसमे राजपाल यादव ने बहुत ही अच्छा अभिनय किया था।  उम्मीद है आपको यह कहानी अवश्य पसंद आएगी।

Bashir Badr - Parakhna Mat, Parakhne Mein Koi Apna Nahi Rahta | बशीर बद्र - परखना मत, परखने में कोई अपना नहीं रहता | Ghazal

परखना मत, परखने में कोई अपना नहीं रहता
किसी भी आईने में देर तक चेहरा नहीं रहता

Chandradhar Sharma 'Guleri' - Ghantaghar | चंद्रधर शर्मा 'गुलेरी' - घंटाघर | Story

एक मनुष्य को कहीं जाना था। उसने अपने पैरों से उपजाऊ भूमि को बंध्या करके पगडंडी काटी और वह वहाँ पर पहला पहुँचने वाला हुआ। दूसरे, तीसरे और चौथे ने वास्तव में उस पगडंडी को चौड़ी किया और कुछ वर्षों तक यों ही लगातार जाते रहने से वह पगडंडी चौड़ा राजमार्ग बन गई, उस पर पत्थर या संगमरमर तक बिछा दिया गया, और कभी-कभी उस पर छिड़काव भी होने लगा।

Saadat Hasan Manto - Khol Do | सआदत हसन मंटो - खोल दो | Story

सआदत हसन मंटो अपने समय में हमेशा विवादों में रहे, भारत और पाकिस्तान में कई मुकदमें चलते रहे, और चलते भी क्यों न? कहानियों के माध्यम से नंगा सच दिखाने का साहस जो किया था। अपने समय से कहीं आगे की कहानियाँ लिख जो दी थी।  यह अलग बात है की इन्ही कहानियो की वजह से 'मंटो' आज विश्व प्रसिद्ध कहानीकार है किन्तु अपने समय में वह सम्मान नहीं पा सके।  हिंदी कला आपके लिए प्रस्तुत कर रहे है 'मंटो' की सबसे विवादस्पद कहानियों  में से एक "खोल दो"

Sahir Ludhianvi - Maine Jo Geet Tere Pyaar Ki Khatir Likhe | साहिर लुधियानवी - मैंने जो गीत तेरे प्यार की ख़ातिर लिक्खे | Poetry

साहिर लुधियानवी - मैंने जो गीत तेरे प्यार की ख़ातिर लिक्खे
मैंने जो गीत तेरे प्यार की ख़ातिर लिक्खे
आज उन गीतों को बाज़ार में ले आया हूँ

Popular Posts

Premchand - Kafan | प्रेमचंद - कफ़न | Story

प्रेमचंद जी की यह कहानी आज भी हमारे देश के भुलाये गए गरीब तबके के उन तमाम लोगो की स्तिथि बयान करती है जो समाज की ढकोसली परम्पराओ का वहन...

Bashir Badr - Parakhna Mat, Parakhne Mein Koi Apna Nahi Rahta | बशीर बद्र - परखना मत, परखने में कोई अपना नहीं रहता | Ghazal

परखना मत, परखने में कोई अपना नहीं रहता किसी भी आईने में देर तक चेहरा नहीं रहता

Chandradhar Sharma 'Guleri' - Ghantaghar | चंद्रधर शर्मा 'गुलेरी' - घंटाघर | Story

एक मनुष्य को कहीं जाना था। उसने अपने पैरों से उपजाऊ भूमि को बंध्या करके पगडंडी काटी और वह वहाँ पर पहला पहुँचने वाला हुआ। दूसरे, तीसरे और...

Saadat Hasan Manto - Khol Do | सआदत हसन मंटो - खोल दो | Story

सआदत हसन मंटो अपने समय में हमेशा विवादों में रहे, भारत और पाकिस्तान में कई मुकदमें चलते रहे, और चलते भी क्यों न? कहानियों के माध्यम से न...